सहायक कंपनियाँ

महिंद्रा फायनांस में, हमारा नजरिया अपने हर कार्य में ग्राहकों की जरूरतों को हमेशा सबसे ऊप रखना है। यही वह वजह है जो हमें अपने परिवार का विस्तार करने और बेहतर सेवाओं के साथ प्रदान की गई विशेषज्ञता के माध्यम से अपने ग्राहकों को अधिक मूल्य प्रदान करने के लिए प्रेरित करता है। यहां कुछ ऐसे सफल उद्यम हैं - महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड और महिंद्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, जिन्हें हम अपने बढ़ते परिवार के हिस्से के रूप में स्वीकारते हुए गर्व महसूस करते है।

Brokers

हम ऐसे समय में जी रहे हैं जहाँ कल की अनिश्चितताओं को ध्यान में रखते हुए सुरक्षित बने रहना सबसे ज्यादा जरुरी हैं. इसी जरुरत को ध्यान में रखते हुए हमारी सहायक कंपनी महिंद्रा इन्शुरन्स ब्रोकर्स लि. 3600 से भी अधिक इन्शुरन्स समाधान उपलब्ध कराती हैं जो हमारे विस्तृत ग्राहकवर्ग की विभिन्न जोखिमों और ज़रूरतों के अनुसार होते हैं. लगभग 1.3 मिलियन रिटेल ग्राहकों और बहुत बड़ी संख्या में कॉर्पोरेट ग्राहकों को प्रत्यक्ष (डायरेक्ट) इन्शुरन्स ब्रोकिंग उपलब्ध कराने के साथ-साथ कंपनी जीवन तथा गैर जीवन बीमा क्षेत्र में भी कई तरह की बीमा योजनाएं उपलब्ध कराती हैं.

ग्राहकों की बीमे-संबंधी जरूरतों और जोखिमों को बहुत ही बारीकी से और सुव्यवस्थित तरीके से समझकर उन्हें उनके पैसे का पूरा-पूरा मूल्य देने के प्रति एमआईबीएल प्रतिबद्ध हैं. इससे अधिकाधिक मौलिक/नए-नए, किफायती और ग्राहक की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए, इन्शुरन्स समाधान तैयार करने में मदद होती हैं. गुणवत्तापूर्ण प्रबंधन प्रणालियों (क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम्स) के लिए हमें प्रतिष्ठित आईएसओ 9001:2008 प्रमाणन प्रदान किया जाना, जो की भारत की बहुत कम इन्शुरन्स ब्रोकिंग कंपनियों को मिलता है, हमारे गुणवत्ता के सर्वोच्च मानकों के सन्दर्भ में कोई समझौता ना करने की बात पर अटल बने रहने के हमारे इरादे का प्रतीक हैं.

एमआईबीएल को मई 2004 में बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीए) द्वारा डायरेक्ट ब्रोकर लाइसेंस प्रदान किया गया जिससे उन्हें जीवन और गैर जीवन बीमा व्यवसाय में डायरेक्ट इन्शुरन्स ब्रोकिंग का काम करना संभव हुआ. इसके अलावा, एमआईबीएल ने ग्राहकों की ज़रूरत के अनुसार उन्हें समाधान उपलब्ध कराने का अपना वादा पूरा करने के लिए विभिन्न सार्वजनिक और निजी बीमा कम्पनियों के पैनल में अपने आप को शामिल कर लिया हैं. सितंबर 2011 में एमआईबीएल को आईआरडीए द्वारा कम्पोजिट ब्रोकर लाइसेंस प्रदान किया गया जिससे उन्होंने डायरेक्ट ब्रोकिंग के साथ-साथ रिइन्शुरन्स व्यवसाय में प्रवेश कर लिया. संपूर्ण बीमा जोखिम समाधान प्रदाता के तौर पर एमआईबीएल ग्राहकों के जोखिम व्यवस्थापन पोर्टफोलियो में भी अभिन्न भूमिका निभाते हैं.

हमारा सपना:

"2015 तक राजस्व (रेवेन्यू) के सन्दर्भ में भारत का नंबर 1 इन्शुरन्स ब्रोकर बनना."

सामरिक भागीदारी (स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप)

सितंबर 2012 में महिंद्रा इन्शुरन्स ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) ने सिंगापूर में निगमित लीपफ्रॉग फाइनेंसियल इन्क्लूजन फण्ड की सहायक कंपनी इनक्लूजन रिसोर्सेज प्राइवेट लिमिटेड (आईआरपीएल) और अपनी मूल कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंसियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल) के साथ मिलकर बड़े बाज़ारों में बीमा उपलब्ध कराने के लिए, आईआरपीएल के अंतर्राष्ट्रीय ज्ञान एवं अनुभव खासकर कम लगत वाले प्रौद्योगिकी समाधान के इस्तेमाल के माध्यम से कंपनी की सेवाएँ भारत के ग्रामीण तथा अर्द्धशहरी इलाकों में विस्तारित करने के लिए एक निश्चित समझौता किया. इसके अलावा, आईआरपीएल के रिइन्शुरन्स के क्षेत्र में विश्वस्तरीय कौशल और संपर्क को देखते हुए आईआरपीएल निश्चित तौर पर कंपनी के रिइन्शुरन्स ब्रोकिंग व्यवसाय को बढ़ाने के लिए विभिन्न विश्वस्तरीय रिइन्शुरर्स के साथ जुड़ने में मददगार साबित होगा.

लीपफ्रॉग फाइनेंसियल इन्क्लूजन फण्ड, एशिया और अफ्रीका के अब तक बीमे का पूरा-पूरा लाभ ना ले सके लोगों का बीमा करनेवाली कंपनियों में निवेश करनेवाली पहली और सबसे बड़ी निवेशक हैं और इंटरनेशनल फाइनेंस कारपोरेशन (आईएफसी), यूरोपियन इन्वेस्टमेंट बैंक (ईआईबी), केएफडब्ल्यू डेवलपमेंट बैंक, जर्मनी, एफएमओ डेवलपमेंट बैंक ऑफ़ दि नेदरलैंड्स आदि उसके निवेशक हैं. लीपफ्रॉग फाइनेंसियल इनक्लूजन फण्ड बड़े बीमा बाज़ारों पर अपना विशेष ध्यान केन्द्रित करती हैं और “नेक्स्ट बिलियन” उभरते बाज़ार उपभोक्ताओं को इन्शुरन्स प्रदान करनेवाली कंपनियों में निवेश करती हैं. लीपफ्रॉग फाइनेंसियल इनक्लूजन फण्ड दो मायनों में असाधारण/अलग हैं, एक हैं उसका सामाजिक प्रभाव और दूसरा, बीमे पर उसका पूरा ध्यान केन्द्रित होना.

आपकी कंपनी को ऊपर दिया गए व्यवहार करने के लिए बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीए) और विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड) के साथ-साथ भारतीय रिज़र्व बैंक की मंजूरियां प्राप्त हैं.

इन सबके चलते, एमआईबीएल अब एमएमएफएसएल की 85% तक सहायक कंपनी हैं. आईआरपीएल ने एमआईबीएल में 15% अधिकार प्राप्त किये हैं.

housing

जिसे हम घर कहते हैं उस जगह को बनाने में जिन्दगी बीत जाती हैं. महिंद्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस लि. का उद्देश्य आपके सपनों के घर के इस सफ़र का फासला थोडा कम करना हैं.

किफायती और जरुरत के अनुसार गृह ऋण उपलब्ध कराते हुए ग्रामीण और छोटे नगरों(शहरों) का रूप बदलना, यह एमआरएचएफएल, भारत की सबसे बड़ी ग्रामीण गृहनिर्माण वित्त कंपनी स्थापित करने का उद्देश्य था. तो चाहे वह घर का निर्माण, खरीद, विस्तार या सुधार हों, एमआरएचएफएल द्वारा लगभग हर तरह की गृह वित्त संबंधी जरूरतों को पूरा किया जाता हैं. आज वें 1 लाख से भी अधिक ग्राहकों को सफलतापूर्वक सेवा प्रदान कर रहें हैं और महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, बिहार, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल जैसे राज्यों के 17,500 से भी अधिक गांवों में कार्यरत हैं.

वास्तव में देखा जाये तो, एमआरएचएफएल ग्रामीण भारत में कुछ बड़े परिवर्तनों के लिए जिम्मेदार रहा हैं. दूर दराज़ के गांवों में रहनेवालों लोगों के पास दस्तावेज़/कागजात ना होने के करण उन्हें प्रतिष्ठित वित्तीय संस्थाओं से ऋण मिलना लगभग असंभव होता हैं. किसी स्थानिक साहूकार से पैसे लेना बहुत ज्यादा महंगा पड़ता हैं. ऐसे में एमआयएचएफएल अपनी भूमिका निभाता हैं और कम से कम दस्तावेजों के आधार पर किफायती गृह ऋण प्रदान करता हैं.

उन्होंने मिटटी के “कच्चे” और लड़खड़ाते घरों को ईंट और पत्थरों के “पक्के” घरों में, घर की उबड़-खाबड़ फर्श को टाइल्स में परिवर्तित करने में मदद की हैं. संक्षेप में कहा जाये तो, झोंपडियां घरों में और सपनें वास्तविकता में परिवर्तित हुए हैं.

एमएमएफएसएल की सहायक कंपनी के तौर पर महिंद्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस की स्थापना 9 अप्रैल, 2007 को हुई और उन्होंने 13 अगस्त, 2007 को राष्ट्रीय गृहनिर्माण बैंक (नेशनल हाउसिंग बैंक) से गृहनिर्माण वित्त संस्था (हाउसिंग फाइनेंस इंस्टिट्यूशन) के तौर पर व्यवसाय करने का पंजीकरण प्रमाणपत्र प्राप्त किया. महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंसियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल) एमआरएचएफएल में 87.5% हिस्सा धारण करते हैं और शेष 12.5% हिस्सा राष्ट्रीय गृहनिर्माण बैंक (एनएचबी) का हैं जो कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी हैं.

हमारा मिशन:

"गांवों में जिंदगियां बदल दें. मिलकर"

हमारी सभी सेवाओं को देखने महिंद्रा होम फाइनेंस के लिए कृपया की वेबसाइट देखें.

कंपनी अधिनियम, 1956 ते तहत स्थापित महिंद्रा ट्रस्टी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, महिंद्रा म्यूच्यूअल फण्ड के लिए ट्रस्टी हैं. हमारे ट्रस्टी बोर्ड में श्री मनोहर जी. भिड़े – बैंक ऑफ़ इंडिया के भूतपूर्व चेयरमैन तथा प्रबंध निदेशक, श्री नरेंद्र मैरपड़ी – इंडियन ओवरसीज बैंक के भूतपूर्व चेयरमैन तथा प्रबंध निदेशक, श्री गौतम जी. पारेख – इंस्टीट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया के फेलो सदस्य और श्री देबब्रत बंदोपाध्याय – टचस्टोन कंसल्टिंग के संस्थापक तथा सीईओ शामिल हैं. (उनकी संपूर्ण प्रोफाइल देखने के लिए यहाँ क्लिक करें)

परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी (एसेट मैनेजमेंट कंपनी) द्वारा लागू की जानेवाली प्रक्रिया तथा प्रणालियों की निगरानी करने का महत्वपूर्ण काम ट्रस्टी कंपनी करती हैं और वह निवेशकों के हित में काम करती हैं.

कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत स्थापित महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, महिंद्रा म्यूच्यूअल फण्ड की निवेश प्रबंधक (इन्वेस्टमेंट मेनेजर) हैं. वह महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंसियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल)के संपूर्ण स्वामित्वाधीन कंपनी हैं. एमएएमसीपीएल के निदेशक बोर्ड में श्री वी. रवि – एमएमएफएसएल के कार्यकारी निदेशक तथा सीएफओ, श्री गौतम दीवान – इंस्टीट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया (आईसीएआई) के फेलो सदस्य, प्रो. जी. सेतु – आईआईएम त्रिची के डीन तथा श्री आशुतोष बिश्नोई – एमडी तथा सीईओ, एमएएमसीपीएल शामिल हैं.

महिंद्रा फाइनेंस सीएसआर फाउंडेशन की स्थापना 2 अप्रैल, 2019 को महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंसियल सर्विसेज लिमिटेड की संपूर्ण स्वामित्वाधीन सहायक कंपनी के तौर पर की गई जो कि कंपनी अधिनियम, 2013 के अनुच्छेद 8 के तहत शेअर्स द्वारा मर्यादित गैर लाभांश कंपनी (नॉट फॉर प्रॉफिट कंपनी) हैं जो कि शिक्षा, रोज़गार, व्यवसायिक कौशल, तथा स्थायी आजीविका (सस्टेनेबल लाइवलीहुड) को समर्थन देना, उसे बढ़ावा देना और आगे बढ़ाना, निवारक और उपचारात्मक स्वास्थ्य उपाय, स्वच्छता और पीने का साफ पानी, भूखमरी, गरीबी और कुपोषण को खत्म करने के लिए उपाय, संधारणीयता (सस्टेनेबिलिटी) और पारिस्थितिकी के संतुलन के लिए काम करती हैं.

 

हमसे संपर्क करें

महिन्द्रा एंड महिन्द्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड
चौथी मंजिल, महिन्द्रा टावर्स,
डॉ। जी.एम. भोसले मार्ग,
पी.के. कुरने चौक, वर्ली,
मुंबई 400 018.

यहां क्लिक करे आपकी नज़दीकी महिन्द्रा फायनांस

Calculate Your EMI

  • Diverse loan offerings
  • Less documenation
  • Quick processing
Loan Amount
Tenure In Months
Rate of Interest %
Principal: 75 %
Interest Payable: 25 %

For illustration purpose only

Total Amount Payable

50000

चोटी
fraud DetectionFraud Advisory MF - Whatsapp ServiceWhatsApp
*